800 वी पोस्ट !!! खुश होना चाहिए पर मैं हूँ नहीं ।
सच कहूँ अब मज़ा नहीं आ रहा ।

शायद हर ब्लोगर को एक समय के बाद लगता है की अब क्या ? ऐसे वक़्त में मार्गदर्शन, प्रोत्साहन और अच्छी सलाह की बहुत जरुरत होती है । मैं भी इसी में उलझा हूँ एक बार पहले भी आप सभी से सलाह मांगी थी की इस ब्लॉग को कैसे बेहतर किया जाए पर सही मार्गदर्शन नहीं मिल पाया और इस ब्लॉग में सिर्फ सॉफ्टवेयर ही भरते रहे । वैसे ये इतना भी बुरा नहीं है पर ब्लॉग बेहतर न होकर इसका स्तर गिरा नहीं तो कम से कम ठहर जरुर गया ।
1000 पोस्ट और एक डोमेन का लक्ष्य रखा था खुद के लिए पर अब ये थोडा मुश्किल लग रहा है ।

कोई धमकी नहीं है की ब्लॉग बंद करने वाला हूँ ये तो चाह कर भी नहीं कर सकता क्यूंकि अगर ब्लॉग बंद कर दिया या नए पोस्ट नहीं आये तो धीरे धीरे पाठक आने बंद हो जायेंगे और इतने दिनों की मेहनत बेकार ही चली जायेगी

ऐसा नहीं है की मुझे कंप्यूटर तकनीकों की सारी जानकारी है पर मेरी जिज्ञासा तो है कुछ और नया सीखने की आप लोगों को कुछ नया देने या किसी समस्या को हल करने में मुझे भी सीखने को ही मिलता है ।
पर पिछले कुछ समय से ऐसा शायद हो नहीं पा रहा शायद मुझे थोड़े विराम की जरुरत है या शायद मैं "चुक" गया हूँ पता नहीं ।

ये अपने लोगों से आपस की बात थी इसे अन्यथा ना लें

25 comments:

  1. नवीन जी,

    निराशा को पास न फटकने दे किसी से क्या मतलब अगर आपको आपके काम में संतुष्टि मिलती है तो इससे बड़ा पुरुस्कार और क्या चाहिए ..........आपका कार्य सराहनीय है | एक सुझाव है आपके लिए एक समय निर्धारित करें अपनी पोस्ट प्रकाशित करने का जैसे सप्ताह में सिर्फ एक पोस्ट, और आप सीधे लोगों से जुड़कर उनसे उनकी तकनीकी समस्याएं पूछे और यथासंभव उनका उत्तर दें .......इससे आपको हार्दिक प्रसन्नता होगी ..........शुभकामनाये |

    ReplyDelete
  2. navin ji mujhe creative common licence ki koi jaankari nahi hai agar aap de to bahut accha hoga, 800 vi post ke liye badhaiyan.

    ReplyDelete
  3. AAP AESE HI AAGE BADATE JAYE DEKEYE SIR AAJ KE JAMANE MAI KOI BHI FREE MAI KUCH NAHI BATATA HAY KINTU JO AAP KAR RAHE HAY VO BAHUT AACHA HAY GOD AAP KA BHALA KARE

    SIR MAINE AAP SE PUCHA THA KI MOBILE MEAI FREE INTERNET KAISE CHALETE HAY
    aankitgupta5@gmail.com PAR MAIL KAR DE
    THANK YOU

    ReplyDelete
  4. SIR AAP KO **800** POST PURI KARNE KE LIYE BAHUT BAHUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUUT BADHAAIYAN THANKES

    ReplyDelete
  5. SIR MERI THODI ENGLISH KAMJOR HAY ISLIYE MAI AAP SE MAFI CHATA HU AGAR AAP KE PASS KOI COMISE DOWNLOAD KARNE KE SITE HO TO JARUR BATEYE MAI AAP KO EK SITE BATATA HO $PAGALWORLD.COM YE SITE FREE HAY AAP ISMEAIN KUSH BHI DOWNLOAD KAR SAKTE HAY THANKS FROM ANKIT

    ReplyDelete
  6. आप टिप्पणियों की कम संख्या देख कर निराश ना हो आप अच्छा काम कर रहे है हम जैसे तकनीक के कम जानकर को काफी फायदा होता है फिर टिप्पणिया भले कम मिले पर विजिटर तो काफी है ना और फालोवर भी | आप को ८०० पोस्ट के लिएबधाई

    ReplyDelete
  7. शुभकामनाये

    ReplyDelete
  8. नवीन जी ...
    आपका ब्लॉग बहुत बढ़िया है और पाठकों को बढ़िया पठनीय सामग्री पढ़ने को मिलती है ... निराश न हो .... टीप ही सब कुछ नहीं हैं ...

    ReplyDelete
  9. मेरी और से आपको 800 पोस्ट के बहुत बहुत बधाई

    ReplyDelete
  10. आप टिप्पणियों की कम संख्या देख कर निराश ना हो आप अच्छा काम कर रहे है हम जैसे तकनीक के कम जानकर को काफी फायदा होता है फिर टिप्पणिया भले कम मिले पर विजिटर तो काफी है ना और फालोवर भी |

    आप को ८०० पोस्ट के लिए ढेरों बधाई ओर भविष्य के लिए शुभकामनायें

    महक

    ReplyDelete
  11. मैं मानता हूं कि न आप निराश हैं, न 800 के रोमाच से ग्रस्‍त. अपने किए पर ऐसी तटस्‍थ समीक्षा दृष्टि कम ही देखने को मिलती है. आपको असुविधा न हो तो कृपया अपना मोबाइल नं., मेरे नं.9425227484 पर एसएमएस का कष्‍ट करेंगे.

    ReplyDelete
  12. चलिए, इसी बहाने कुछ ट्रैक परिवर्तन कर लीजिए. लिनक्स पर हाथ आजमाइए और उस पर अपने अनुभव, टिप्स, ट्रिक्स लिखिए. बताइए कि लिनक्स में हिंदी में क्या और कैसे काम किया जा सकता है इत्यादि इत्यादि. 800 पोस्ट इस पर. ठीक? आपके लिनक्स पर लेखों का इंतजार रहेगा.

    ReplyDelete
  13. शायद मैं आप सभी को अपनी बात समझा नहीं पाया .
    १. मुझे टिप्पणियों की संख्या से कोई फर्क नहीं पड़ता है . मैंने शायद टिप्पणियों को लेकर कोई बात कही भी नहीं है .
    २. मेरा उद्देश्य अपने ब्लॉग को बेहतर बनाते रहने का है मुझे लगता है कुछ समय से इसमें ठहराव आया है अगर आपके पास कोई सुझाव हो जैसा की श्री रवि रतलामी जी ने दिया है तो वो मेरे लिए उपयोगी होगा .
    ३. कोई एक काम करते करते हम इसके आदि हो जाते है अपने आप को बेहतर बनाने के लिए कभी कभी थोडा विराम लेकर अपना आंकलन करना जरुरी हो जाता है .
    ४. शायद ब्लोगिंग बंद न करूँ पर थोड़े अतिरिक्त समय को हासिल करने के लिए पोस्ट की संख्या कम या नियमित करना ही पड़ेगा .

    ReplyDelete
  14. 800 वीं पोस्ट की बहुत बधाई..अरे भई, यह निराशा कहाँ से ले आये. भगाओ इसे और जारी रहो. जितना बन पड़े, बस उतना ही लेकिन रहो नियमित. शायद कमेंट बहुत न भी आयें मगर है बहुत काम की जानकारियाँ.

    ReplyDelete
  15. नविन जी, ८०० ब्लॉग पोस्ट करने की क्षमता रखना कोई छोटी बात नहीं है - बहुत बधाइयाँ. यदि कुछ और सार्थक करना चाहते हैं तो मेरे एक सुझाव पर गौर कीजिये - मुझ जैसे लोग जो कम्प्यूटर और उसमें प्रयुक्त सोफ्टवेयर की बहुत कम जानकारी रखते हैं, या वे लोग जो अंग्रेजी भाषा में लिखी सोफ्टवेयर की हेल्प फाइल को आसानी से नहीं समझ पाते, उनके लिए यदि आप कुछ आम प्रयोग में आनेवाले सोफ्टवेयर को प्रयोग करने और उनमें उपयोगी टिप्स एंड ट्रिक्स के बारे में हिंदी में कुछ लिखना शुरू कर दें तो कैसा रहे?
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  16. सबसे पहले तो 800 विं पोस्ट की हार्दिक बधाई।
    बाकी आपकी पोस्ट तो बहुत जानकारी समेटे होती हैं………………और उनकी हमे जरूरत है।

    ReplyDelete
  17. आपकी मेहनत को सलाम . ८००वी पोस्ट मज़ाक नही है लिखना और सार्थक लिखना

    ReplyDelete
  18. इस बात की चिन्ता छोड़ दीजिए कि अगर ब्लॉग बंद कर दिया या नए पोस्ट नहीं आये तो धीरे धीरे पाठक आने बंद हो जायेंगे और इतने दिनों की मेहनत बेकार ही चली जायेगी ।

    मैंने तीन बार प्रयोग के तौर पर नई पोस्ट्स देनी बंद कर दीं। लेकिन हर बार पाठक बढ़े।
    28 माह में 3000 पोस्ट्स के बाद, 21 मई से अब तक एक लम्बे विश्राम के दौरान इस 'अदालत' ब्लॉग के वेबसाईट में ढालने का काम धीमी गति से चल रहा लेकिन हैरान हूँ कि इन करीब चार माहों में पाठक लगातार बढ़ ही रहे, जबकि पोस्ट्स आ ही नहीं रहीं!और गूगल रैंक 3 ही चल रहा।

    हिन्दी ब्लॉग जगत में, एक ही विषय पर, एक ही व्यक्ति द्वारा, एक वर्ष में सर्वाधिक पोस्ट्स देने का रिकॉर्ड है हमारे-आपके पास, छत्तीसगढ़ के पास। हालांकि यह सब, अब मायने नहीं रखता :-)

    इस बात से ज़रूर सहमत हूँ कि शायद थोड़े विराम की जरुरत है। लेकिन याद रखिए और मानिए कि आप "चुक" नहीं गए हैं।

    आईए, इन विश्राम के पलों में हम दोनों नई योजनायों पर बातें करें, आमने-सामने बैठ कर।
    आपका स्वागत है, उसी भिलाई में, जहाँ लोहे बनाने वाले विशालकाय कारखाने के साथ-साथ फौलादी इरादों वाले ब्लॉगर बंधुं हैं।

    शुभकामनाएँ, भविष्य की योजनायों के लिए

    ReplyDelete
  19. अपको 800वीं पोस्ट की बधाई। कहीं आप इस निराशा के बहाने से हम से पीछा छुडाना तो नही चाह रहे?
    आप बहुत अच्छा काम कर रहे हैं और अच्छे लोगों को हमेशा अपनी अच्छाई के लिये प्रयासरत रहना चाहिये। बधाई और शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  20. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  21. ******Attention********
    If you want earn money by writting (only 2-3 sentences) & this is completely new site (2 days ago). Rapidly growing so dont loss this opportunity

    http://tinyurl.com/2dedqjq

    ReplyDelete
  22. Your Blog site is appreciable because it is in HINDI ! Comments are not made because it is not understood what to write.So please go on !

    ReplyDelete

पिछले लेख ..

Powered by Blogger.

इस ब्लॉग में ढूँढें

लोगो आपके ब्लॉग पर

ये ब्लॉग पसंद आया तो इसे अपने ब्लॉग का हिस्सा बनाइये ये लोगो अपने ब्लॉग पर लगाकर. Hindi Tech

परिवहन

counter

संकलक

www.hamarivani.com

जो ये कोशिश पसंद करते हैं

मेरा कोना

About Me

My Photo
खरोरा, रायपुर, छत्तीसगढ़, India
बस एक कोशिश है जो थोडी बहुत जानकारियां मुझे है चाहता हूँ की आप सभी के साथ बांटी जाए। आप मुझे मेल भी कर सकते है hinditechblog(a)gmail.com पर .

Google Badge

;